Bewafai Shayari___full2hindishayari

मोहब्बत से हमें क्या उम्मीद होती है ,
मोहब्बत तो बेउम्मीद होती है ,
चाहते है जिन्हें हम जान से ज्यादा ,
बेवफाई उन्ही को नसीब होती है .....!

Mohabbat se hame kya ummeed hai ,
Mohabbat to khud beyummeed hai ,
Chahte hai jinhe hum jaan se jyada ,
Bewfai unhi ko naseeb hoti hai .....! 

================================
दूर से ही मजबूर सही पर ,
याद तुम्हारी आती है ,
जब साँस वह पर लेती हो ,
पर तन्हाई यहाँ तक आती है ...!

Door se hi majboor sahi par ,
Yaad tumhari aati hai ,
jab saans waha par leti ho,
par tanhai yaha tak aati hai ...!

=============================

0 comments: