हसरत है सिर्फ तुम्हे पाने की

हसरत है सिर्फ तुम्हे पाने की

और कोई खुवाहिश नहीं इस दीवाने की

शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है क्या जरुरत थी

तुम्हे इतना खुबसूरत बनाने की .....!!

read more          download

0 comments: