दोस्ती शायरी नयी , दोस्ती शायरी 2017

मुस्कान के दायिरों मैं हमेशा ख़ुशी नहीं होती
आंसू के बहाब मैं हमेशा गम नहीं होते
बढ़ जाये चाहे फासले लेकिन
दोस्ती और प्यार कभी कम नहीं होती  !!
============================
Muskan ke dayiro main hamesha kushi nahi hoti
Aansu ke bahaw main hamesha gum nahi hote 
Badh jaye chahe fasle lekin
Dosti or pyar kabhi kam nahi hoti ..........

=================================
Read More                                         

0 comments: