माना के किस्मत पे मेरा कोई जोर नहीं

करते है हम तुमसे मोहब्बत
हमारी खता यह माफ़ करना
है अगर बदनाम मोहब्बत हमारी
तुम प्यार को बदनाम मत करना
============================

माना के किस्मत पे मेरा कोई जोर नहीं
पर ये सच है के मोहब्बत मेरी कमजोर नहीं
उस के दिल मैं यादों मैं कोई और लेकिन
मेरी हर साँस मैं उसके सिवा कोई और नही
=================================
ज़माने से नही तन्हाई से डरते है
प्यार से नहीं रुसवाई से डरते है
मिलने जी उमंग है दिल मैं लेकिन
मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरते है ....
===============================

0 comments: