Tuesday, 23 May 2017

Six line shayari

कभी ख़ुशी से मुस्कुराती है आँखे
कभी गम से रुलाती है ऑंखें
कभी प्यार से शर्माती है ऑंखें
कभी आंसुओं मैं डूब जाती है आँखें
इशारों मैं कभी कुछ कह जाती है आँखें
कभी एक नजर मैं सब कुछ ले जाती है आँखें
=============================
पहला - पहला प्यार है नादानियाँ तो होगी
जरा - जरा सी बात पर कहानियां तो होगी
घबराते हो क्यूँ मोहब्बत के उसूलों से
प्यार इन्तहां मांगे तो कुर्बानियां तो होगी
हमें बेहोश देख यूँ ताज्जुब न कीजिये
आप हमें चाहोगे तो हैरानियाँ तो होगी
========================
बैठी रहो हर पल हमारी नजरों के सामने
के अब सिर्फ आपको ही देखने को जी चाहता है
आपका रूठना भी हंसी लगता है
आपको हरदम मनाने को जी चाहता है
इस अधूरी जिन्दगी को पूरा करने को जी चाहता है
================================

0 comments: