दुनिया मैं जीने की चाहत न होती

दुनिया मैं जीने की चाहत न होती
अगर खुदा ने मोहब्बत बनायीं ना होती
लोग मरने की आरजू ना करते
अगर मोहब्बत मैं बेवफाई ना होती ..
 =========================

यादों मैं हमारी वो भी खोये होंगे
खुली आँखों से कभी वो भी सोये होंगे
माना हसना है अदा गम छुपाने की
पर हस्ते हस्ते कभी वो भी रोये होंगे

=========================
तेरी बेवफाई को भुला ना सकेंगे
चाहे भी तो कभी मुस्कुराना सकेंगे
तुझको तो मिल गया यार अपना
अपना किसी को हम बना ना सकेंगे

=======================

0 comments: