दिल ही दिल मैं चाहेंगे तुम्हे

दिल ही दिल मैं चाहेंगे तुम्हे
मोहब्बत का ना कभी इजहार करेंगें
तुम न आओगे मैं जानता हूँ सनम
फिर भी हर मोड़ पर इंतजार करेंगे
=======================

=======================
मेरा हर शेर तेरे जज्बात से अच्छा होगा
मेरा हर दिन तेरी रात से अच्छा होगा
इक दिन ये नजारा भी देख लेना जालिम
मेरा जनाजा तेरी बारात से अच्छा होगा
=========================

=========================
दिल लगाया था दिल्लगी के लिए
बन गया रोग जिन्दगी के लिए
तेरी मांग मैं है सितारे जडे
और हम तरसते है रोशनी के लिए
========================

========================
पहली मोहब्बत मैं खता कर रहा हूँ
किसी बेवफा से बफा कर रहा हूँ
वो ठुकरा डे तो क्या हुआ ऐ मेरे खुदा
तू ही मिला दे तुझसे ये दुआ कर रहा हूँ
=========================

=========================
चाँद सूरज साथ - साथ मिलते नहीं
सहरा मैं हर रोज फूल खिलते नहीं
दूसरों की बात क्यूँ और कैसे करे हम
जब अपने ही पैर साथ - साथ चलते नहीं
==========================

0 comments: