हम आपकी याद मैं उदास है
बस आपसे मिलने की आस है
चाहे दोस्त कितने भी क्यूँ न हो
आपकी तो बात ही कुछ खास है
=====================

0 comments: