Monday, 22 May 2017

लहर आती है किनारे से लौट जाती है
याद आती है उनकी दिल मैं समां जाती है
लहर और याद मैं फर्क सिर्फ इतना है
लहर बक्त आती है और याद हर बक्त आती है
===============================

0 comments: